Wednesday, April 14, 2021
Home देश समाचार सैंपलिंग से ही ट्रेस होगा कोरोना: सैंपलिंग अगस्त जैसी, पर पॉजिटिविटी दर-नए...

सैंपलिंग से ही ट्रेस होगा कोरोना: सैंपलिंग अगस्त जैसी, पर पॉजिटिविटी दर-नए केस तब से ज्यादा, हर 100 टेस्ट में 12 संक्रमित मिल रहे


Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

पानीपत12 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

हर 100 टेस्ट में 12 संक्रमित मिल रहे

  • जिले में रोज औसत 761 टेस्ट हो रहे, स्वास्थ्य विभाग का तर्क- सैंपलिंग के लिए स्टाफ कम
  • जिले में हर राेज मिल रहे औसतन 90 केस, 5 दिनाें में पाॅजिटिविटी रेट 11.87% पर पहुंचा
  • मास्क और साेशल डिस्टेंसिंग का पालन करना हाेगा, नहीं ताे स्थिति इससे भी ज्यादा बिगड़ेगी

पानीपत में बीते 5 दिनाें में ही 452 केस पाॅजिटिव मिल गए हैं। इसमें साेमवार काे मिले 89 केस भी शामिल हैं। उन केसाें में 16 छात्र, 12 परिवाराें के 30 से ज्यादा लाेग भी संक्रमित हैं। जिले में काेराेना केसाें का अांकड़ा भी 12 हजार के पार हाे गया।

पानीपत प्रदेश का 10वां एेसा जिला है, जिसमें इतनी संख्या या उससे अधिक केस हैं। पानीपत में अब सैंपल लेने की अाैसत अगस्त-2020 जैसी, लेकिन अब पाॅजिटिविटी रेट अाैर केस दाेनाें उससे ज्यादा है। अगस्त-2020 में राेजाना सैंपल 797 हुए। जबकि अब 761 हाे रहे हैं। लेकिन अगस्त में पाॅजिटिव रेट 11.10% था, जबकि अप्रैल के 5 दिनाें में ही पाॅजिटिविटी रेट 11.87% पर पहुंच गया है।

ये पाॅजिटिविटी रेट किसी भी महीने में लिए गए सैंपलाें पर मिले केसाें से सबसे अधिक है। डीसी सहित कैंप के 15 कर्मचारियाें के सैंपल लिए गए हैं। अब जिले में हर राेज अाैतसन 90 केस मिल रहे हैं, इससे पहले सिर्फ सितंबर-2020 में ही 115 की अाैसत से केस मिले थे। अब लाेगाें काे एहतियात बरतनी हाेगी। मास्क व साेशल डिस्टेंसिंग का पालन करना हाेगा, नहीं ताे स्थिति इससे भी ज्यादा बिगड़ेगी।

साेमवार काे 89 नए केस आए, 5 दिनाें में 452 मरीज मिल चुके, 12 परिवारों के 30 से ज्यादा लोग संक्रमित हैं

अब तक 1.40 लाख सैंपल लिए गए

पानीपत में अगस्त-2020 से काेराेना सैंपलाें की जांच के लिए लैब बनी हुई है। तब से लेकर अब तक करीब 1.40 लाख सैंपल यहां लिए गए हैं। करनाल में पानीपत से ढाई गुना सैंपल हुए हैं। करनाल में अब राेजाना 2 हजार से ज्यादा सैंपल हाे रहे हैं, जबकि पानीपत में मात्र 761 की औसत से सैंपल हाे रहे हैं।

जिले में बढ़ानी होगी सैंपलिंग

जिले में सैंपलिंग बढ़ाने की बहुत जरूरत है, क्याेंकि सैंपलिंग नहीं बढ़ेगी ताे केस पकड़ में नहीं आएंगे और केसाें के बढ़ने की आशंका ज्यादा रहेगी। काेराेना काे खत्म करना है ताे सैंपलिंग बढ़ानी ही पड़ेगी।

सीधी बात

डाॅ. सुनील संडूजा, नाेडल अधिकारी एवं डिप्टी सीएमओ

Q. काेराेना काे राेकने को क्या कर रहे हैं A. सैंपलिंग बढ़ा रहे हैं

Q. हां, लेकिन उस रफ्तार से नहीं बढ़ी जैसे अन्य जिलाें में सैंपलिंग बढ़ी A. 3 माह में सैंपलिंग अब ज्यादा हाे रही

Q. काेराेना काे राेकना है ताे इससे ज्यादा सैंपलिंग करनी हाेगी A. बहुत सा स्टाफ वैक्सीनेशन में लगा है

Q. क्या काेई काेविड सेंटर बनाने की प्लानिंग है A. अभी जरूरत नहीं

खबरें और भी हैं…



Source link

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments