Monday, April 19, 2021
Home देश समाचार सिरसा पुलिस की बड़ी कार्रवाई: बैंक मैनेजर को किडनैप कर ऐंठे 7...

सिरसा पुलिस की बड़ी कार्रवाई: बैंक मैनेजर को किडनैप कर ऐंठे 7 लाख रुपए, 24 घंटे में 4 गिरफ्तार; एक बदमाश पंजाब में पुलिस कस्टडी से भागा हुआ


Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

सिरसा19 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

सिरसा में पुलिस की गिरफ्त में बैंक मैनेजर और साथी को किडनैप करके फिरौती मांगने वाले गैंग के चार युवक।

सिरसा में बैंक मैनेजर के अपहरण की वारदात को अपराध जांच एजेंसी (CIA) ने 24 घंटे के अंदर सुलझा लिया। इस मामले में 4 युवकों को गिरफ्तार किया गया है और इनमें से एक पंजाब पुलिस की हिरासत से भागा हुआ है। अब रिमांड के दौरान आरोपियों की निशानदेही पर फिरौती की रकम और वारदात में इस्तेमाल हथियार बरामद किए जाएंगे। पकड़े गए आरोपियों की पहचान पंजाब के डेरा जगमाल वाली के जश्नदीप उर्फ जश्न पुत्र धर्मेद्र सिंह के अलावा मंडी डबवाली के साहिल पुत्र संजय कुमार, हर्ष कुमार पुत्र सुक्खा सिंह और जिले के गांव शेरगढ़ निवासी बूटा सिंह पुत्र सुरेंद्र सिंह के रूप में हुई है।

पुलिस अधीक्षक भूपेंद्र सिंह ने बताया कि 5 अप्रैल को सिरसा के पंजाब नेशनल बैंक में मैनेजर के रूप में सेवारत राजस्थान के संगरिया मूल के कमल कटारिया ने बड़ा गुड्‌ढा थाने की पुलिस को शिकायत दी थी। मैनेजर कटारिया ने बताया था कि सुबह करीब पौने दस बजे जब वह अपने साथी कर्मचारी हरमीत सिंह के साथ ड्यूटी के लिए लक्कड़ा वाली में आ रहा था तो गांव छतरियां के पास होंडा सिटी कार में सवार 6 लोगों ने अपनी कार उनकी वरना कार के अड़ाकर हथियारों के बल पर दोनों साथियों का अपहरण कर लिया और 14 लाख रुपए की फिरौती मांगी।

इसके बाद अपहरणकर्ताओं ने गदराना फाटक के पास 7 लाख रुपए लेकर दोनों को मौजगढ़ गांव के पास छोड़ दिया। मामले की जांच का जिम्मा कालांवाली के ASP नीतिश अग्रवाल के नेतृत्व में सिरसा और कालांवाली की CIA के अलावा साइबर सैल की टीमों को दिया गया था। सिरसा के CIA प्रभारी इंस्पेक्टर प्रदीप कुमार और कालांवाली के CIA प्रभारी सब इंस्पेक्टर राजपाल की टीमों ने अहम सुराग जुटाए। इसके बाद राजपाल की टीम ने दबिश देकर घटना के तीन आरोपियों को पंजाब क्षेत्र से, जबकि एक आरोपी को डबवाली क्षेत्र से काबू कर लिया। इस घटना के दो अन्य आरोपियों की पहचान कर ली गई है, जिन्हें जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

SP भूपेंद्र सिंह ने बताया कि इस गैंग का मुखिया जश्नदीप है, जिसके खिलाफ थाना कालांवाली में मादक पदार्थ अधिनियम के तहत अभियोग दर्ज है। इसके अलावा पंजाब के मानसा में शस्त्र अधिनियम के तहत अभियोग दर्ज हुआ था। उस मामले में वह पंजाब पुलिस की कस्टडी से फरार हो गया था। अब इन चारों को कोर्ट में पेश करके रिमांड पर लिया गया है, जिस दौरान फिरौती के रूप में ली गई 7 लाख की रकम और इस वारदात में इस्तेमाल हथियार बरामद किए जाएंगे।

खबरें और भी हैं…



Source link

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments