Tuesday, April 13, 2021
Home देश समाचार राजधानी में नाइट कर्फ्यू: एक्शन में दिखी पुलिस, 7 घंटे में 220...

राजधानी में नाइट कर्फ्यू: एक्शन में दिखी पुलिस, 7 घंटे में 220 केस दर्ज, रात दस से सुबह पांच बजे तक लोगों के घर से बाहर निकलने पर पाबंदी


  • Hindi News
  • Local
  • Delhi ncr
  • Police Seen In Action, 220 Cases Registered In 7 Hours, Ban On Exit Of People From Ten To Five In The Night

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नई दिल्ली19 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

दिन प्रतिदिन बढ़ रहे कोरोना संक्रमण के मामलों ने सरकार से लेकर आम लोगों की चिंता बढ़ा दी है। यही वजह है सरकार को दिल्ली में नाइट कफ्र्यू लगाना पड़ गया। यह आदेश बुधवार से लागू हो गया, जिसे लेकर दिल्ली पुलिस भी एकदम से एक्टिव हो गई।

रात दस से सुबह पांच बजे तक लोगों के घर से बाहर निकलने पर पाबंदी लग गई, जिन्होंने इसे हल्के में लिया वे कानूनी पचड़े में फंस गए। सरकारी आदेश को नहीं मानने वाले लोगाें के खिलाफ पुलिस ने कानूनी कार्रवाई की।

दिल्ली पुलिस के प्रवक्ता चिन्मय बिश्वाल ने बताया नाइट कर्फ्यू की पहली ही रात पुलिस ने कुल 220 मुकदमे दर्ज कर लोगों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की। इसके अलावा 65 डीपी एक्ट और प्रिवेंटिव एक्‍शन के तहत 534 लोगों के खिलाफ एक्शन लिया गया। वहीं मास्क नहीं पहनने वालों पर भी सख्ती दिखाई। जिसके तहत 842 लोगों के पुलिस ने चालान काटे।

इस बार का कोरोना कितना खतरनाक है, रोजाना बढ़ रहे इसके आंकड़े पुष्टि करने के लिए काफी हैं। यह बात खुद डॉक्टर भी स्वीकार कर रहे हैं, क्योंकि इस बार संक्रमण की चपेट में युवा, बच्चे और गर्भवती महिलाएं सभी शामिल हैं। कोरोना को दिल्ली पुलिस भी गंभीरता से ले रही है। पीसीआर यूनिट में तैनात पुलिसकर्मियों की तो मेडिकल लीव पर ही रोक लगा दी गई है।

बकायदा, इसके लिए एक आदेश जारी किया गया है, जिसमें कहा गया है मेडिकल ग्राउंड पर छुट्टी या रेस्ट पर जाने से पहले उन्हें डीसीपी की अनुमति लेना होगा। जो इस आदेश की अवहेलना करेगा उसे अनुपस्थित माना जाएगा। छह अप्रैल को यह आदेश डीसीपी पीसीआर की ओर से जारी किया गया।

गौरतलब है दिल्ली पुलिस में पीसीअर यूनिट महकमे की एक बड़ी ताकत है। कोई भी घटना या हादसा होने पर सबसे पहले मौके पर पीसीआ के जवान ही पहुंचते हैं। वर्तमान में इस यूनिट में आठ हजार से ज्यादा पुलिसकर्मी कार्यरत हैं।

खबरें और भी हैं…



Source link

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments