Thursday, May 13, 2021
Home देश समाचार महाराष्ट्र कोरोना LIVE: 'ब्रेक द चेन' कर्फ्यू का पहला दिन, CM ने...

महाराष्ट्र कोरोना LIVE: ‘ब्रेक द चेन’ कर्फ्यू का पहला दिन, CM ने दिए 6 कड़े निर्देश; पुलिस को भीड़ कंट्रोल करने की मिली छूट


  • Hindi News
  • Local
  • Maharashtra
  • Mumbai Pune (Maharashtra) Coronavirus News | Coronavirus Maharashtra Case District Wise Update | Maharashtra Coronavirus Lockdown Relaxation | Maharashtra COVID 19 Latest News

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

मुंबई2 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

धारा 144 लगाने के बाद मुंबई के ‘गेट वे ऑफ इंडिया’ के बाहर का नजारा।

बुधवार रात 8 बजे से महाराष्ट्र में मिशन ‘ब्रेक द चेन’ शुरू हो गया है। जिसके तहत राज्यभर में CRPC की धारा 144 के तहत निषेधाज्ञा लगा दी गई है। यानी आज के बाद एक स्थान पर 5 या ज्यादा लोगों के इकट्ठा होने पर पाबंदी लगा दी गई। यह नियम 1 मई की सुबह 8 बजे तक जारी रहेगा।

बुधवार को मुख्यमंत्री ने कोरोना संकट को लेकर सभी विभागीय आयुक्त, जिलाधिकारी, महानगरपालिका आयुक्त और पुलिस अफसरों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बैठक की। मुख्यमंत्री ने प्रदेश में लागू संचारबंदी (कर्फ्यू) के दौरान नियमों का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने के स्पष्ट निर्देश जिलाधिकारी और पुलिस प्रशासन को दिया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में पाबंदियों को कठोरता से लागू किया जाना चाहिए। डीजीपी संजय पांडे ने स्पष्ट किया है कि इस बार नियम को और कड़ाई से लागू किया जाएगा। इस बार बेवजह बाहर घूमने वालों के खिलाफ लाठी का इस्तेमाल किया जा सकता है।

पढ़ें: 15 दिन के कर्फ्यू में क्या खुला, क्या बंद और किस पर लगेगा जुर्माना​​​​​​​

मुख्यमंत्री के 6 बड़े निर्देश

  1. कर्फ्यू के दौरान जीवनावश्यक और अत्यावश्यक सेवा सुविधाएं बंद नहीं रहेंगी लेकिन इन गतिविधियों के लिए नियमों का उल्लंघन और भीड़ नहीं होनी चाहिए। यदि नियमों का पालन नहीं हो रहा होगा तो इन सुविधाओं को स्थानीय प्रशासन बंद करने का फैसला लें।
  2. सरकार की ओर से कमजोर और गरीबों के लिए घोषित आर्थिक सहायता व्यवस्थित रूप से पहुंचाई जानी चाहिए। आर्थिक सहायता पहुंचाने में किसी प्रकार की शिकायतें नहीं मिलनी चाहिए।
  3. मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना के मरीजों के लिए तैयार की गई जंबो सुविधा आगामी मानसून को देखते हुए सुरक्षित है अथवा नहीं इसकी जांच की जाए। सभी अस्पतालों का फायर सेफ्टी ऑडिट तत्काल करें। इस काम में किसी प्रकार की लापरवाही नहीं बरती जानी चाहिए।
  4. कोरोना संक्रमण का म्यूटेशन नमूने में पाया गया है। पिछली बार की तुलना में महामारी की गति काफी तेज है। युवा ज्यादा संक्रमित हुए हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि माइक्रो और मिनी कंटेनमेंट जोन की ओर विशेष ध्यान दिया जाना चाहिए। उनहोंने कहा कि ऑक्सीजन और रेमडेसिविर का उचित और सही इस्तेमाल होना चाहिए।
  5. मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना महामारी के फैलाव के लिए विवाह समारोह जिम्मेदार नजर आए हैं। इसलिए जिला और पुलिस प्रशासन विवाह समारोह में सभी नियमों का पालन सुनिश्चित करे।
  6. कोरोना नियंत्रण टास्क फोर्स के डॉक्टर संजय ओक ने कहा कि रेमडेसिविर इंजेक्शन का अनावश्यक इस्तेमाल टाला जाना चाहिए।
ताज होटल के बाहर टहल रहे लोगों को हटाते पुलिसकर्मी।

ताज होटल के बाहर टहल रहे लोगों को हटाते पुलिसकर्मी।

पुलिस कर सकती है लाठी का इस्तेमाल
राज्य के पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) संजय पांडे ने संचार बंदी (कर्फ्यू) के दौरान पुलिस को आम लोगों के खिलाफ अनावश्यक बल प्रयोग से बचने के निर्देश दिए है। हालांकि, डीजीपी ने यह भी कहा कि बगैर जरुरत घर से निकलने वालों के खिलाफ पुलिस लाठी का इस्तेमाल भी कर सकती है।

उन्होंने कहा कि सभी यूनिटों को कहा गया है कि बिना ठोस वजह लाठी का इस्तेमाल न करें। साथ ही उन्होंने जानबूझकर नियमों का उल्लंघन करने वालों से साथ कड़ाई से पेश आने को कहा है। राज्य में संचारबंदी के मद्देनजर डीजीपी पांडे ने आम लोगों से अपील की कि वे सरकार द्वारा जारी दिशानिर्देशों का पालन करें और पुलिस को लाठी उठाने पर मजबूर न करें।

मुंबई के CSMT स्टेशन के अन्दर यात्रियों की टेस्टिंग लगातार जारी है।

मुंबई के CSMT स्टेशन के अन्दर यात्रियों की टेस्टिंग लगातार जारी है।

बिना पहचानपत्र के बाहर नहीं निकल सकते लोग
जिन लोगों को बाहर निकलने की छूट हैं वे पहचान पत्र के साथ बाहर निकलें। पांडे ने कहा कि संचारबंदी के बावजूद अगर कोई घर से निकलता है तो कोई खास वजह होगी। इसलिए सभी यूनिटों को निर्देश दिए गए हैं कि बिना वजह लोगों के साथ मारपीट करने और उनके खिलाफ मामले दर्ज करने जैसी कार्रवाई नहीं की जानी चाहिए। पुलिस को तब तक संयम बरतना चाहिए जब तक साफ नहीं हो जाता कि कोई जानबूझकर नियमों का उल्लंघन कर रहा है। बल प्रयोग तभी किया जाना चाहिए जब और कोई रास्ता न बचा हो।

रमजान के पवित्र महीने के पहले दिन मुंबई में कुछ लोग रोजा खोलते हुए।

रमजान के पवित्र महीने के पहले दिन मुंबई में कुछ लोग रोजा खोलते हुए।

राज्य में तैनात होगी CRPF की 22 कंपनियां
उन्होंने लोगों से भी अपील की कि बिना ठोस वजह के घर से बाहर न निकलें। उन्होंने बताया कि दो शिफ्ट में सभी पुलिसकर्मी सड़कों पर होंगे। इसके अलावा 13280 होमगार्ड और एसआरपीएफ की 22 कंपनियां भी तैनात की गईं हैं। पुलिस कोई पास नहीं जारी करेगी और नियमों का पालन कराने के लिए स्थानीय निकायों से सहयोग करेगी और जुर्माना भी वसूलेगी।

LTT स्टेशन पर यात्रियों को कतार में बैठाते GRP के कर्मचारी।

LTT स्टेशन पर यात्रियों को कतार में बैठाते GRP के कर्मचारी।

युद्ध जैसे हालात: पुलिस उपायुक्त
राज्य सरकार के संचार बंदी के बाद मुंबई पुलिस ने बुधवार को इससे जुड़ा आदेश जारी कर दिया। इसके बाद मुंबई पुलिस आयुक्त हेमंत नागराले ने वीडियो संदेश जारी कर आम लोगों से अपील की कि वे इस बात को समझे कि फिलहाल युद्ध जैसे हालात हैं। कोरोना एक ऐसा दुश्मन है जो किसी के प्रति दया नहीं दिखाता। जिस तरह युद्ध के हालात में हम घर में रहते हैं और जीने के लिए बाहर घूमने के अधिकार को छोड़ देते हैं। फिलहाल युद्ध जैसे ही हालात हैं इसलिए बिना वजह लोगों को घर से बाहर निकलने से बचना चाहिए।

नवी मुंबई में सभी पुलिसकर्मियों की फिर से कोरोना टेस्टिंग शुरू हो गई है।

नवी मुंबई में सभी पुलिसकर्मियों की फिर से कोरोना टेस्टिंग शुरू हो गई है।

24 घंटों में संक्रमण के 58,952 मामले सामने आये
राज्य में बुधवार को कोरोना वायरस संक्रमण के 58,952 नए मामले सामने आए, जबकि 278 और संक्रमितों की मौत हो जाने से कुल मृतक संख्या बढ़कर 58,804 पहुंच गई। राज्य में 11 अप्रैल को संक्रमण के 63,294 मामले सामने आए थे, जो जब तक की सर्वाधिक संख्या है।

स्वास्थ्य विभाग ने आज यहां बताया कि राज्य में अब तक कुल 35,78,160 लोग संक्रमित हुए, जिनमें से 29,05,721 को ठीक होने के बाद अस्पताल से छुट्टी दी जा चुकी है। राज्य में वर्तमान में 6,12,070 संक्रमितों का उपचार चल रहा है। मुंबई में संक्रमण के 9,931 नए मामले सामने आए हैं, जबकि कुल मृतक संख्या बढ़कर 12,147 पहुंच गई है।

LTT स्टेशन के बाहर जब भी उत्तर प्रदेश या बिहार के लिए कोई ट्रेन जा रही है, इस तरह की भीड़ देखने को मिल रही है।(यह तस्वीर बुधवार दोपहर की है)

LTT स्टेशन के बाहर जब भी उत्तर प्रदेश या बिहार के लिए कोई ट्रेन जा रही है, इस तरह की भीड़ देखने को मिल रही है।(यह तस्वीर बुधवार दोपहर की है)

धारावी में 15 दिन में मिले 860 नए मरीज
एशिया की सबसे बड़ी झुग्गी बस्ती यानी धारावी में बीते 15 दिन में यहां 860 नए मरीज सामने आए हैं। जबकि पूरे मार्च महीने में 829 मरीज सामने आए थे। इसको देखते हुए स्थानीय सांसद राहुल शेवाले ने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन को पत्र लिखकर मांग की है कि धारावी में 18 साल के उम्र के सभी लोगों को टीके की खुराक दी जाए। जिससे सर्वाधिक संक्रमण वाले इस क्षेत्र में कोरोना वायरस को नियंत्रित किया जा सके। धारावी में बढ़ते संक्रमण को देखते हुए बृहन्मुंबई महानगरपालिका (बीएमसी) ने मिशन वैक्सीनेशन शुरू किया है।

खबरें और भी हैं…



Source link

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments