Monday, April 19, 2021
Home देश समाचार महाराष्ट्र कोरोना LIVE: नए केस के मामले में दुनिया के 219 देशों...

महाराष्ट्र कोरोना LIVE: नए केस के मामले में दुनिया के 219 देशों से आगे महाराष्ट्र, पुणे में मदद के लिए आगे आई सेना; राज्य में वैक्सीन का सिर्फ एक दिन का स्टॉक बचा


  • Hindi News
  • Local
  • Maharashtra
  • Maharashtra Lockdown; Mumbai Pune Coronavirus Cases Update | Maharashtra Nagpur Nashik Corona Cases District Wise Today News 8 April

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

मुंबईएक मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

राज्य में फिर से लॉकडाउन की आशंका के बीच पुणे और मुंबई से प्रवासी मजदूरों का पलायन लगातार जारी है।

महाराष्ट्र में बुधवार को कोरोना वायरस संक्रमण के सबसे ज्यादा 59,907 मामले सामने आए। इसके साथ ही कुल केस बढ़कर 31,73,261 हो गए। पिछले एक दिन में कोविड-19 से 322 और मरीजों की मौत हो गई जिससे मृतकों की संख्या 56,652 पर पहुंच गई। नए केस के मामले में महाराष्ट्र दुनिया के 219 देशों से आगे है। महाराष्ट्र से ज्यादा सिर्फ अमेरिका और ब्राजील में क्रमशः 75,183 और 90,973 केस सामने आये हैं।

महाराष्ट्र में खत्म होने वाला है वैक्सीन का स्टॉक
प्रमुख सचिव (स्वास्थ्य) प्रदीप व्यास ने बताया कि बुधवार की सुबह तक राज्य में करीब 14 लाख वैक्सीन डोज थी। कई जिलों में आज या कल तक स्टॉक खत्म हो जाएगा। केंद्र को इस बात की जानकारी है और हमने लिखित में उन्हें बताया है।’ उन्होंने बताया कि अगर शेड्यूल और वैक्सीन की उपलब्धता हो तो महाराष्ट्र में रोज आसानी से पांच लाख शॉट दिए जा सकते हैं। महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने भी बताया कि राज्य को 40 लाख डोज एक सप्ताह में जरुरी है। हम दिन 4-5 लाख लोगों को वैक्सीन दे रहे हैं, ऐसे में अगर वैक्सीन नहीं मिली तो बड़ी समस्या हो सकती है। टोपे ने कहा,’हम सेंटर के 6 लाख डोज हर दिन लगाने के चैलेंज को स्वीकार करते हैं, लेकिन वैक्सीन होनी तो चाहिए।’

संक्रमण के बढ़ते खतरे को देखते हुए धारावी में फिर से टेस्टिंग तेज हुई है।

संक्रमण के बढ़ते खतरे को देखते हुए धारावी में फिर से टेस्टिंग तेज हुई है।

पुणे में 20 बेड देने को तैयार हुई इंडियन आर्मी
पुणे में कोरोना इस हद तक कंट्रोल से बाहर हो गया है कि जिला प्रशासन ने भारतीय सेना से मदद मांगी थी। पुणे में वैंटिलेटर्स और ऑक्सिजन बेड्स फुल हो चुके हैं। नए मरीजों को रखने के लिए बेड्स नहीं हैं। ऐसे में पुणे के आर्मी हॉस्पिटल को सामान्य नागरिकों के लिए उपलब्ध कराने की मांग की गई। जिसे आर्मी ने मानते हुए 20 बेड्स देने की बात कही है।

पुणे में होटल किराए पर लेने की नौबत आई
पुणे में मरीजों को अस्पतालों में रखने की जगह नहीं हैं। उन्हें रखने के लिए होटलों को किराए पर लिया जा रहा है। कोरोना संक्रमण इतनी तेजी से बढ़ रहा है कि सारे बेड्स पहले से ही फुल हो चुके हैं। पुणे में पिछले 15 दिनों में हर रोज चार हजार नए केस सामने आ रहे हैं। पुणे के रूबी अस्पताल द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक अस्पताल ने तीन होटल को किराए पर लिया है और वहां 180 बेड्स की व्यवस्था की जा सकी है। जो हाल रूबी अस्पताल का है वैसा ही हाल पुणे के सरकारी अस्पतालों और अन्य अस्पतालों का भी है।

महाराष्ट्र में ऑक्सीजन की भारी किल्लत होने वाली है
राज्य की खाद्य और दवा नियामक (FDA) ने आने वाले दिनों में ऑक्सीजन की कमी को लेकर आशंकाएं जाहिर की है। राज्य के स्वास्थ्य विभाग ने एफडीए को यह सूचित किया है कि अप्रैल महीने के आखिर तक महाराष्ट्र में एक्टिव केस की संख्या बढ़कर 9 लाख तक पहुंच सकती है। इसी के साथ ऑक्सीजन की मांग भी दोगुनी हो जाएगी। फरवरी महीने में महाराष्ट्र के अस्पतालों में जहां 150 से 200 मीट्रिक टन ऑक्सीजन की जरूरत थी तो वहीं यह मांग मार्च के आखिर तक बढ़कर 650 से 750 मीट्रिक टन तक पहुंच गई है। 6 अप्रैल को महाराष्ट्र में ऑक्सीजन की खपत बढ़कर 777 मीट्रिक टन पहुंच गई। महाराष्ट्र में प्रतिदिन ऑक्सीजन उत्पादन की अधिकतम क्षमता 1250 मीट्रिक टन है। फिलहाल महाराष्ट्र हर दिन 30 से 50 मीट्रिक टन ऑक्सीजन गुजरात से लेता है और जल्द ही छत्तीसगढ़ से भी उसे हर दिन 50 मीट्रिक टन ऑक्सीजन मिलेगा।

मुंबई में गाड़ियों को रोक कर एंटीजेन टेस्ट किया जा रहा है।

मुंबई में गाड़ियों को रोक कर एंटीजेन टेस्ट किया जा रहा है।

लॉकडाउन के लिए CM ने मांगा दो दिन का टाइम
राज्य में फिर से लॉकडाउन लगाए जाने से आक्रोशित व्यापारियों के साथ वर्चुअल बैठक में महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने लॉकडाउन के मुद्दे पर दो दिन का समय मांगा। उन्होंने कहा कि कुछ जिम्मेदारी व्यापारियों को भी उठानी होगी और उन्हें बढ़ते संक्रमण को रोकने और कोरोना के खिलाफ लड़ाई में सरकार के साथ मिलकर काम करना होगा। मुख्यमंत्री ने जोर देकर कहा कि यह महत्वपूर्ण है कि सभी को एकजुट होना चाहिए और इस लड़ाई को जीतने के लिए एक साथ काम करना चाहिए। सरकार का इरादा व्यापारियों का नुकसान करना नहीं बल्कि उनके हितों की रक्षा करना है, लेकिन यह स्थिति विकट है। इसलिए लॉकडाउन का कठोर निर्णय लेना पड़ रहा है।

9वीं और 11वीं के छात्रों को किया जाएगा प्रमोट
महाराष्ट्र में कोरोना के बढ़ते खतरे को देखते हुए साल भर से स्कूल बंद थे। राज्य में स्कूलों के अंदर ऑनलाइन तरीके से बच्चों को पढ़ाई करवाई जा रही थी। इस बार 11वीं कक्षा में एडमिशन वीं शुरुआत काफी देर से हुई थी। जिसके बाद महाराष्ट्र सरकार ने ऐलान किया है कि नौवीं और ग्यारहवीं कक्षाओं के छात्रों को अगली कक्षा में प्रमोट कर दिया जाएगा। इससे पहले पहली से आठवीं तक के छात्रों को प्रमोट करने का आदेश सरकार ने दिया था।

सार्वजनिक स्थलों पर थूकने पर लगाई जाए रोक: अदालत

बॉम्बे हाईकोर्ट ने बुधवार को महाराष्ट्र सरकार और BMC को सार्वजनिक स्थानों पर थूकने की समस्या पर रोक लगाने के लिए उपयुक्त कदम उठाने का निर्देश दिया। मुख्य न्यायाधीश न्यायमूर्ति दीपांकर दत्त और न्यायमूर्ति जी एस कुलकर्णी की खंडपीठ ने सड़क पर थूकने वालों के खिलाफ जुर्माने की राशि को 200 से बढ़ाकर 1200 करने को कहा। अदालत ने सवाल किया, ‘‘आजकल 200 रूपये का महत्व ही क्या है? आप राजस्व का नुकसान उठा रहे हैं। थूकने की यह आदत रोकने की जरूरत है।’’

कोरोना के खतरे को देखते हुए BMC के कर्मचारी अब फिर से स्टेशनों पर चेकिंग अभियान चला रहे हैं।

कोरोना के खतरे को देखते हुए BMC के कर्मचारी अब फिर से स्टेशनों पर चेकिंग अभियान चला रहे हैं।

मुंबई में लगातार दूसरी बार मिले 10 हजार से ज्यादा मरीज
मुंबई में बुधवार को संक्रमण के 10,428 नए मामले सामने आए और 23 और लोगों की इसकी वजह से मौत हो गई। इसे लेकर मुंबई में संक्रमितों की कुल संख्या बढ़कर 4,82,760 और मृतकों का आंकड़ा 11,851 पर पहुंच गया है। यह लगातार दूसरा दिन है जब शहर में संक्रमण के 10,000 से ज्यादा मामले सामने आए हैं। इस महीने में यह तीसरी बार है जब मामले 10 हजार के आंकड़े को पार कर गए हैं। मुंबई में वर्तमान समय में 81,886 एक्टिव पेशेंट हैं। मुंबई में कोविड-19 से स्वस्थ होने वालों की दर घटकर 80 प्रतिशत हो गई है जबकि संक्रमण की कुल दर बढ़कर 1.91 प्रतिशत हो गई है तथा अब 35 दिन में संक्रमण के मामले दोगुना हो रहे हैं।

मुंबई में 789 इमारतों को अब तक सील किया गया
मुंबई में 72 कंटेनमेंट जोन हैं, जहां 789 इमारतों को सील कर दिया गया है। बीएमसी ने बुधवार को एक आदेश जारी कर कोरोना वायरस के चलते लगाई गई पाबंदियां जारी रहने के दौरान भोजन एवं आवश्यक सामान की आपूर्तियों की ऑनलाइन सेवा प्रदाताओं के माध्यम से हफ्ते के सभी दिन होम डिलिवरी की अनुमति दी। महानगरपालिका ने वीकेंड लॉकडाउन के दौरान सड़क किनारे लगने वाले भोजन के ठेलों को पार्सल देने और खान पैक कराकर ले जाने की अनुमति भी दी है।

मुंबई में कोरोना की नई गाइडलाइन

  • वीकेंड में सार्वजनिक स्‍थानों पर सुबह 7 बजे से रात 8 बजे तक पांच लोगों से अधिक की आवाजाही की अनुमति नहीं।
  • वीकेंड में रात 8 बजे से सोमवार सुबह सात बजे तक आवश्‍यक सेवाओं को छोड़कर अन्‍य किसी भी तरह की आवाजाही प्रतिबंधित रहेगी।
  • समुद्र तट ( Sea Beach) 30 अप्रैल तक बंद रहेंगे।
  • गार्डन और सार्वजनिक मैदानों में सुबह 7 बजे से रात 8 बजे तक पांच से अधिक लोगों को जाने की अनुमति नहीं होगी।
  • आवश्‍यक सेवाओं को छोड़कर दुकानें, बाजार व मॉल पूरी तरह से बंद रहेंगे।
  • आवश्‍यक सेवाएं हमेशा चालू रहेगी।
  • निजी कार्यालय बंद रहेंगे (आवश्यक सेवाओं को छोड़कर)
  • फिल्म और टीवी शूटिंग के लिए शर्तों के साथ अनुमति दी गई है।
  • धार्मिक, सामाजिक, सांस्कृतिक और राजनीतिक कार्यों पर प्रतिबंध रहेगा।
  • मनोरंजन सेवाएं (सिनेमा, थिएटर, ऑडिटोरियम, आर्केड, वाटर पार्क, क्लब, स्विमिंग पूल, जिम, खेल परिसर) बंद रहेंगे।

सार्वजनिक परिवहन के लिए नियम

  • ऑटो रिक्शा में चालक समेत दो सवारी
  • टैक्सी – चालक + 50% क्षमता
  • बस – बैठने की पूरी क्षमता, कोई खड़ा नहीं होगा
  • ट्रेन / बस / फ़्लाइट द्वारा आने -जाने वाले व्यक्ति हर समय यात्रा कर सकते हैं।
  • प्राइवेट बसों / वाहनों से यात्रा करने वाले औद्योगिक श्रमिक- वैध आईडी कार्ड का उपयोग करके हर समय यात्रा कर सकते हैं।
मुंबई की सील हुई सोसाइटियों में जाकर BMC के लोग जांच कर रहे हैं।

मुंबई की सील हुई सोसाइटियों में जाकर BMC के लोग जांच कर रहे हैं।

कम टीकाकरण को लेकर केंद्र का राज्य को पत्र
केंद्र ने महाराष्ट्र को, स्वास्थ्यकर्मियों समेत सभी योग्य लाभार्थियों के औसत से कम टीकाकरण पर पत्र लिखा है। राज्य के प्रधान सचिवों को एक पत्र में अतिरिक्त स्वास्थ्य सचिव मनोहर अग्नानी ने उल्लेख किया है कि इन राज्यों और केंद्रशासित प्रदेश का प्रदर्शन राष्ट्रीय औसत से नीचे है और इसमें सुधार की जरूरत है। अग्नानी के इस पत्र के पहले केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने कड़ी टिप्पणी में महाराष्ट्र तथा कुछ अन्य राज्यों पर निशाना साधते हुए आरोप लगाया कि वे योग्य लोगों का टीकाकरण किए बिना टीके की मांग कर अपनी नाकामी को छिपाने का प्रयास कर रहे हैं और लोगों के बीच दहशत फैला रहे हैं। बता दें कि महाराष्ट्र में सिर्फ 83% स्वास्थ्यकर्मियों को कोरोना की पहली डोज दी गई है।

भाजपा को भुगतना होगा गंभीर परिणाम: नाना पटोले
टीकाकरण के लिए आयु वर्ग का दायरा बढ़ाने की मांग खारिज करने को लेकर महाराष्ट्र कांग्रेस ने बुधवार को केंद्र सरकार की आलोचना की। साथ ही, कांग्रेस ने आरोप लगाया कि केंद्र सरकार महाराष्ट्र के प्रति सहयोग का रवैया नहीं अपना रही है, जो देश में महामारी से सबसे ज्यादा प्रभावित राज्य है। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष नाना पटोले ने कहा कि यदि महाराष्ट्र को कोविड-19 टीके की पर्याप्त खुराक की आपूर्ति नहीं की जाती है तो केंद्र और भाजपा को इसके गंभीर परिणाम भुगतने होंगे।

खबरें और भी हैं…



Source link

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments