Monday, April 19, 2021
Home देश समाचार धोखाधड़ी का मामला: फर्जी कागजात पर 15 एकड़ जमीन पर करनाल व...

धोखाधड़ी का मामला: फर्जी कागजात पर 15 एकड़ जमीन पर करनाल व कैथल में 9 बैंकों से लिया 1.66 करोड़ का लोन


Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कैथल10 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

फर्जी कागजात तैयार करके बैंकों से लोन लेने वाले गिरोह के तीन सदस्यों को पुलिस ने गिरफ्तार किया

  • 3 गिरफ्तार, एक आरोपी ने लालच में तैयार करवाए फर्जी कागजात

फर्जी कागजात तैयार करके बैंकों से लोन लेने वाले गिरोह के तीन सदस्यों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। एसपी लोकेंद्र सिंह ने बताया कि गांव आंहू स्थित सेंट्रल बैंक के प्रबंधक प्रिंस मित्तल की शिकायत पर 8 जनवरी 2019 को थाना ढांड में केस दर्ज हुआ था।

आरोप था कि कुछ आरोपियों ने आपराधिक षड़यंत्र के तहत फर्जी दस्तावेज तैयार करके धोखाधड़ी करते हुए बैंक में बड़े पैमाने पर लाखों रुपए नकदी का गबन कर लिया। एसपी ने बताया कि थाना प्रबंधक ढांड सबइंस्पेक्टर रामकुमार को उक्त मामले में जल्द से अपराधियों की गिरफ्तारी करने के आदेश दिए थे।

2 अप्रैल को 49 वर्षीय आरोपी बलवान सिंह निवासी पूंडरी को धोखाधड़ी समेत विभिन्न धाराओं के तहत गिरफ्तार कर लिया। आरोपी से पूछताछ के दौरान सेंट्रल बैंक आहूं से धोखाधड़ी पूर्वक हड़पी गई एक लाख 70 हजार रुपए नकदी बरामद कर ली। आरोपी बलवान से पूछताछ के दौरान जालसाज रैकेट के सरगना करीब 41 वर्षीय नरेश कुमार निवासी पूंडरी तथा नरेश के सहायक करीब 23 वर्षीय आरोपी रोहित निवासी चंदलाना को भी गिरफ्तार कर लिया।

आरोपी नरेश कुमार से पूछताछ की गई तो उसने कबूला कि वह कमीशन रेट पर बैकों से लोन करवाने का काम करता है। जिस कारण उसकी तहसील कार्यालय व कई बैंकों में काफी अच्छी जान पहचान है। उसकी रोहित निवासी चंदलाना से गांव का भांजा होने कारण अच्छी जान-पहचान थी।

जिसके कंप्यूटर के काफी जानकार होने कारण रोहित को भी लोगों की जमीनी की फर्द में फेर बदल करके विभिन्न लोगों को अलग-अलग बैंको से लोन दिलवाने के धंधे में अपने साथ मिला लिया। जिसकी एवज में आरोपी नरेश कुमार बैंक से हुए लोन का 10 प्रतिशत हिस्सा कमीशन के तौर पर ले लेता था। जबकि अपने साथी रोहित को प्रत्येक फर्द के फेरबदल की एवज में 2500 रुपए प्रति फर्द कमीशन देता था।

धोखधड़ी के आरोपी दो दिन के रिमांड पर

आरोपी बलवान सिंह ने अपनी 15 एकड़ जमीन पर एचडीएफसी बैंक से 9 लाख रुपए का लोन लिया। जिसके बाद आरोपी नरेश कुमार की मदद से जमीन पर लोन क्लीयर दिखाकर कुछ दिन बाद कार्पोरेशन बैंक पूंडरी से 20 लाख रुपए लोन, इसी प्रकार एक्सिस बैंक बस्तली जिला करनाल से 20 लाख रुपए लोन, सैंट्रल बैक आहूं से 15 लाख, बैंक ऑफ इंडिया तरावड़ी जिला करनाल से 15 लाख, यूनियन बैंक ऑफ इंडिया कैथल से 24 लाख 50 हजार रुपए का लोन, सर्व हरियाणा ग्रामीण बैंक पूंडरी से 20 लाख 75 हजार रुपए का लोन, विजय बैंक कैथल से 22 लाख 50 हजार रुपए का लोन तथा इसी 15 एकड़ जमीन पर आईसीआईसीआई बैंक पिपली से 20 लाख रुपए के लोन समेत जालसाजी पूर्वक तरीके द्वारा कुल था एक करोड़ 66 लाख 75 हजार रुपए का लोन हासिल कर चुका था। आरोपियों को दो दिन के रिमांड पर लिया है।

खबरें और भी हैं…



Source link

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments