Monday, April 19, 2021
Home देश समाचार द्वारका एक्सप्रेस-वे पर हादसे का मामला: 9 दिन बाद एक्सपर्ट की देखरेख...

द्वारका एक्सप्रेस-वे पर हादसे का मामला: 9 दिन बाद एक्सपर्ट की देखरेख में शुरू हुआ मलबा हटाने का काम


Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

गुड़गांव21 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

होली के दिन द्वारका एक्सप्रेस-वे स्पाइन गिरने के नौ दिन बाद मलबा हटाने का काम बुधवार से शुरू कर दिया गया। 10 दिन में इस मलबे को हटाने का काम पूरा किया जाएगा। इसके लिए पूरा प्लान तैयार किया गया है जिससे कि मलबा हटाने के दौरान हादसा न हो। हालांकि दोबारा काम करने की अनुमति जांच रिपोर्ट सामने आने के बाद ही दी जाएगी।

वहीं इस मलबे को हटाने के दौरान जांच कमेटी के सदस्यों के अलावा एनएचएआई के अधिकारी भी देखरेख करेंगे।

पिछले महीने 28 मार्च की सुबह द्वारका एक्सप्रेस-वे के पिलर नंबर 107-109 के बीच की दो स्लैब गिर गई थी। एनएचएआई द्वारा गठित जांच कमेटी द्वारा सैंपल लिए जाने के बाद मलबा हटाने का काम शुरू कर दिया गया है। एक-एक सेगमेंट को काटकर हटाया जाएगा जिससे कि हादसा न हो। एक स्पाइन में 14 सेगमेंट होते हैं। एक सेगमेंट का वजन करीब 100 टन होता है। दोनों स्पाइन से 28 सेगमेंट काटकर हटाए जाएंगे।

मलबा हटाने के दौरान निर्माण कंपनी एलएंडटी के उच्च अधिकारी की उपस्थिति अनिवार्य की गई है। इधर, हादसे के बाद गठित जांच कमेटी ने निर्माण कंपनी से पूरी जानकारी ली है। उम्मीद की जा रही है कि अगले 15 दिनों के भीतर कमेटी की रिपोर्ट आ जाएगी।

रिपोर्ट के आधार पर ही कंपनी पर कार्रवाई तय होगी। हादसे के बाद से एनएचएआइ के परियोजना निदेशक (द्वारका एक्सप्रेस-वे प्रोजेक्ट) निर्माण के जंबुलकर ने इलाके में सक्रियता काफी बढ़ा दी है। जिन पैकेजों में काम चल रहा है उनके बारे में प्रतिदिन जानकारी हासिल कर रहे हैं। इसी दिशा में गत सोमवार को भी उन्होंने निरीक्षण करते हुए निर्माण कंपनियों के अधिकारियों से कहा कि किसी भी हाल में लापरवाही नहीं होनी चाहिए।

खबरें और भी हैं…



Source link

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments