Thursday, May 13, 2021
Home देश समाचार चोरी का खुलासा: डॉक्टर शिमला घूमने गया तो पीछे से चार साथियों...

चोरी का खुलासा: डॉक्टर शिमला घूमने गया तो पीछे से चार साथियों ने घर से लाखों की चोरी, तीन आरोपी डेढ महीने बाद गिरफ्तार


  • Hindi News
  • Local
  • Delhi ncr
  • If The Doctor Went To Visit Shimla, Four Colleagues From The Back Stolen Millions From The House, Three Accused Arrested After One And A Half Months

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

गुरुग्राम16 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

क्राइम ब्रांच सेक्टर-17 के प्रभारी नरेन्द्र चौहान ने टीम के साथ तकनीकी प्रणाली व सूझबूझ का प्रयोग करते हुए तीन आरोपियों को अलग-अलग स्थानों से गिरफ्तार किया है।

  • पूर्व नौकर ने अपने तीन अन्य साथियों के साथ मिलकर दिया था चोरी को अंजाम
  • दिल्ली और ओडिशा से किया आरोपियों को गिरफ्तार, चार लाख रुपए भी बरामद

शिमला घूमने गए डॉक्टर के घर में घुस कर ज्वेलरी, कैश, कीमती घड़ी और अन्य सामान चोरी करने वाले चार आरोपियों को क्राइम ब्रांच सेक्टर-17 ने ओडिशा, दिल्ली व पटना से गिरफ्तार किया है। आरोपियों के कब्जे से तीन लाख रुपए की नकदी व चार घड़ी भी बरामद की गई हैं। इस चोरी के संबंध में डाक्टर शिवांशु राज गोयल ने 30 मार्च को लिखित शिकायत दी थी। जिसमें उसने बताया कि वह 27 मार्च को शिमला घूमने गए थे उसके बाद 30 मार्च को उसके केयर टेकर ने फोन कर बताया कि उनके मकान में चोरी हो गई है। जिसकी सूचना पर घर वापस लौटे और डीएलएफ फेस-2 थाना में चोरी का मामला दर्ज कराया।

इसके बाद इस मामले की जांच कर रही क्राइम ब्रांच सेक्टर-17 की टीम एक आरोपी 15 अप्रैल को गुड़गांव से गिरफ्तार कर लिया। जिसकी पहचान गोरंगो जेना निवासी गांव गोपी जिला बालासोर ओडिशा के रूप में हुई। आरोपी को रिमांड पर लिया गया तो उसने अपने तीन अन्य साथियों के साथ चोरी करना स्वीकार किया। जिसके कब्जे से पुलिस ने चोरी की गई एक लाख रुपए की नकदी भी बरामद की है।

क्राइम ब्रांच सेक्टर-17 के प्रभारी नरेन्द्र चौहान ने टीम के साथ तकनीकी प्रणाली व सूझबूझ का प्रयोग करते हुए तीन आरोपियों को अलग-अलग स्थानों से गिरफ्तार किया है। जिनकी पहचान विकास मलिक उर्फ बाबू, प्रफुल्ला मलिक और सुदर्शन उर्फ टूक्कू प्रधान के रूप में हुई है। तीन आरोपियों को दिल्ली और ओडिशा से गिरफ्तार किया है।

पुलिस रिमांड के दौरान आरोपियों से पूछताछ में बताया कि आरोपी विकास पहले डॉक्टर के मकान पर नौकर का काम करता था। उसके बाद इसने नौकरी छोड़ दी थी। वह जानता था कि डॉक्टर के मकान में महंगी ज्वैलरी/सामान व नगदी रखी होती है तो इसने अपने साथियों के साथ मिलकर मकान में चोरी करने की योजना बनाई। डॉक्टर अपने परिवार के साथ शिमला घूमने गया हुआ था तो आरोपियों ने मौका पाकर मकान में लगे एग्जास्ट फैन को उखाड़ कर घर में पहुंचे और मकान में रखी ज्वैलरी, कीमती सामान व नगदी चोरी करके फरार हो गए।

खबरें और भी हैं…



Source link

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments