Sunday, April 18, 2021
Home देश समाचार खेती में बदलाव: स्ट्रॉबेरी की खेती कर गन्नौर के किसान प्रति एकड़...

खेती में बदलाव: स्ट्रॉबेरी की खेती कर गन्नौर के किसान प्रति एकड़ कमा रहे 3 से 4 लाख रुपए


Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

गन्नौर14 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक
  • खर्च के अनुपात में मुनाफा न होने पर खेती में बदलाव कर रहे किसान

कृष्ण धनखड़ | आज के समय में खेतों में खर्च के अनुपात में मुनाफा नहीं होने के चलते किसान भी अपनी खेती में बदलाव करने लगे हैं। इससे पारंपरिक खेती में कमी आई है। गन्नौर के बजाना कलां गांव में किसान खेती काे ही रोजगार बनाना चाहते हैं। किसान अब गेहूं व धान तक ही सीमित नहीं हैं। तरह-तरह की खेती कर लोग अब अच्छा मुनाफा कमा रहे हैं। इसके चलते अब किसानों का रुझान स्ट्रॉबेरी की तरफ बढ़ रहा है।

बजाना कलां गांव के 44 वर्षीय किसान जगबीर बाहरवीं पास हैं। किस फसल से मुनाफा कमाया जा सकता है, अब वे अच्छी तरह से जानते हैं। किसान जगबीर करीब तीन एकड़ में स्ट्रॉबेरी की खेती कर रहे हैं। इसके लिए उन्होंने हिसार में प्रशिक्षण लेने के बाद स्ट्रॉबेरी की खेती शुरू की।

जगबीर बताते हैं कि सितंबर में स्ट्रॉबेरी की खेती शुरू होती है, 70 दिन के बाद फल मिलना शुरू हो जाता है। जोकि अप्रैल तक चलता है। स्ट्रॉबेरी का दो किलो का डिब्बा तैयार किया जाता है। दिल्ली व चंडीगढ़ में फल सप्लाई किया जाता है।

उन्होंने बताया कि प्रति एकड़ स्ट्रॉबेरी की खेती करने पर 3 से 4 लाख रुपए का फायदा हो जाता है। प्रदेश के कई जिलों में स्ट्रॉबेरी के साथ अब केसर की खेती की शुरुआत की है। उपज अच्छी हो जाती है तो इसे भी आगे चलकर बढ़ाया जाएगा।

किसानों को किया जा रहा है प्रोत्साहित

बागवानी विभाग से विक्की ने बताया कि सरकार लगातार स्ट्रॉबेरी की खेती करने वाले किसानों के हौसले को प्रोत्साहित कर रही है। किसानों को स्ट्रॉबेरी की खेती पर सब्सिडी देने के साथ ही वैज्ञानिक विधि अपनाने पर बल दे रही है। समय-समय पर तकनीकी सहायता दिला रही है।

खबरें और भी हैं…



Source link

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments