Friday, April 16, 2021
Home देश समाचार अनाज मंडी में बढ़ने लगी गेहूं की आवक: रोहतक में 33 किसानों...

अनाज मंडी में बढ़ने लगी गेहूं की आवक: रोहतक में 33 किसानों को ही मिले गेट पास, महम की मंडी में पुराना व सुरसरी लगा गेहूं वापस लौटाया


Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

रोहतक/ महम2 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

महम अनाज मंडी में गेहूं को पुराना बता वापस लौटाते मंडी अधिकारी।

  • समस्याओं को लेकर अधिकारियों का दावा-मौके पर ही निपटाएंगे

जिले की अनाज मंडी में मंगलवार को भी गेहूं व सरसों की खरीद हुई। रोहतक अनाज मंडी में मंगलवार को 3671 क्विंटल गेहूं की सरकारी और 5 हजार क्विंटल सरसों की प्राइवेट खरीद हुई है। गेहूं के लिए 150 जमींदारों को पोर्टल के जरिए मैसेज भेजा गया था। जबकि 33 किसानों का गेट पास बना।

अनाजमंडी के ऑक्शन रिकार्डर वीरेंद्र बलहारा ने बताया कि कलानौर मंडी में मंगलवार को 2768 क्विंटल गेहूं की खरीदा गया है। पोर्टल से 50 किसानों को मैसेज भेजा गया था। इसमें से 19 किसान गेहूं की फसल लेकर मंडी पहुंचे। उपायुक्त कैप्टन मनोज कुमार ने बताया कि जिले की विभिन्न मंडियों में 2959 क्विंटल गेहूं की आवक दर्ज की गई है। रोहतक मंडी में 32 क्विंटल जौ की खरीद हुई है।

वहीं महम की अनाज मंडी में भैणी भैरों गांव के एक किसान की ओर से 1 साल पुराने व सुरसुरी लगे हुए गेहूं प्लेटफार्म पर उतार दिए गए। खरीद एजेंसी के अधिकारियों ने गेहूं की ढेरी को जांचा तो मामला पकड़ में आया। एजेंसी ने इस गेहूं को लेने से मना कर दिया। मार्केट कमेटी सचिव ने किसान की ओर से लाए गए तकरीबन 30 क्विंटल गेहूं को वापस उठवाकर मंडी से बाहर भिजवा दिया। खरीद एजेंसी हैफेड के परचेज अधिकारी जसवीर हुड्डा ने बताया कि मंगलवार को 30 किसानों से 2577 क्विंटल गेहूं खरीदा है। 1 हजार क्विंटल के लगभग गेहूं रिजेक्ट किया है।

भाकियू अंबावता के पदाधिकारियों ने मंडी पहुंच में जानी किसानों की समस्याएं

भारतीय किसान यूनियन अंबावता के प्रदेश अध्यक्ष अनिल नांदल के नेतृत्व में यूनियन के पदाधिकारियों ने मंगलवार को मंडियों का दौरा किया और किसानों की समस्याओं को लेकर चर्चा की। इस मौके पर नांदल ने कहा कि रोहतक अनाज मंडी में 4 किसान बगैर टोकन के ट्रैक्टर ट्रॉली में अपने गेहूं लेकर आए थे, जिन्हें वहां आने पर टोकन दिलवाया गया है।

फसल खरीद के लिए रजिस्ट्रेशन व टोकन सिस्टम कारगर नहीं : सर्वखाप

किसानों के सामने वर्तमान में आ रही फसल विक्री की समस्याओं को लेकर सर्वखाप पंचायत की एक बैठक मंगलवार काे को दिल्ली बाईपास पर की गई। नांदल खाप प्रधान डॉ. सुरेश नांदल ने बैठक की अध्यक्षता की। अहलावत खाप प्रधान जयसिंह अहलावत और उदारवादी किसान मजदूर संघ (उजमा) की ओर से बैठक बुलाई गई।

अहलावत खाप प्रधान जय सिंह अहलावत ने अन्नदाता के सामने वर्तमान में आ रही फसल बिक्री की समस्याओं को लेकर सरकार से अनुरोध किया है कि रजिस्ट्रेशन व टोकन सिस्टम दोनों ही कारगर नहीं है क्योंकि किसान की फसल कब कटेगी कब उसे कंबाइन मिलेगी, यह सब हालातों पर निर्भर होता है। साथ ही किसान इतना हाईटेक नहीं हुआ है कि वह रजिस्ट्रेशन व्यवस्था को मोबाइल पर देख सके। इसलिए पुरानी व्यवस्था के आधार पर जब भी किसान फसल लेकर आता है, उसी समय उसकी खरीद होनी चाहिए।

सरकार जमीनी हकीकत को समझे, पुरानी व्यवस्था को बहाल करें

हुड्डा खाप के पूर्व प्रधान धर्मपाल हुड्डा ने कहा कि सरकार कागजी घोड़े दौड़ाने की बजाय ग्राउंड की हकीकत को जाने और समझे और किसानों की फसल बिना देरी के खरीदे। इस दौरान संयोजक महेंद्र सिंह नांदल, कैप्टन जगबीर मलिक, रोहतक खाप 84 प्रधान हरदीप अहलावत, देशवाल खाप प्रतिनिधि सुरेश देशवाल, दहिया खाप प्रधान सुरेंद्र दहिया, कादयान खाप प्रधान केदार कादयान, रूहिल राठी खाप प्रधान सोमवीर राठी, अहलावत खाप प्रधान जयसिंह अहलावत सर्वखाप प्रवक्ता कैप्टन जगबीर मलिक, मलिक खाप प्रतिनिधि धर्मपाल मलिक, रघुवेंद्र मलिक, राज सिंह, संदीप नांदल और रूपेंद्र नांदल उपस्थित रहे।

खबरें और भी हैं…



Source link

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments